जयपुर अखिल भारतीय गुर्जर महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष व जयपुर के सामाजिक कार्यकर्ता रवि शंकर धाभाई के बताया की पूरे भारत वर्ष में गुर्जर समाज के लोगों ने 29 मई 2007 को पीपलखेड़ा पाटोली के आरक्षण की मांग को लेकर हाई वे जाम किया गया था। उस दौरान 6 वीर सपूतों ने अपने प्राणों की आहुति समाज के हक के खातिर दी थी। धाभाई ने बताया कि उनकी शहादत को गुर्जर समाज कभी नहीं भुला पाएगा। समाज के लिए इन्होंने वीर योद्धा की तरह अपने प्राण न्यौछावर कर दिए थे। समाज युगों-युगों तक आपका कर्जदार रहेगा व सही मायने में कश्मीर से कन्याकुमारी तक गुर्जरों को एकजुट और एकता के सूत्र मे पिरोने वाले आप ही थे। इस अवसर पर गुर्जर समाज के गणमान्य व्यक्तियों द्वारा देश में वीर शहीदों की तस्वीरों पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई और पीपलखेड़ा दौसा स्थित शहीद स्थल पर भी श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किया गया और इन वीर शहीद को याद कर नमन कर नम आँखों से सभी ने श्रद्धांजलि अर्पित की।महासंघ के प्रदेश प्रवक्ता डॉक्टर राजकुमार गुर्जर ने कहा कि पीपलखेडा पाटोली में आरक्षण की मांग के दौरान पुलिस फायरिंग में हमारे समाज के 6 वीर सपूतों ने अपने प्राणों की आहुति दी थी। उसके बाद सिकंदरा,पीलूपुरा बूंदी, टोंक, अजमेर, कोटा, भीलवाड़ा, पेंचला, कुशाली दर्रा, हिंडोन, सवाईमाधोपुर, बयाना आदि प्रदेश व देश के स्थानों पर आरक्षण की मांग को लेकर सड़क व रेल मार्ग पर जाम लगाए गए। जिसमें अब तक समाज के 73 वीरों ने अपनी जान की बाजी लगाकर शहादत दी। ऐसे वीर सपूतों को पूरा गुर्जर समाज शत शत नमन करता है और भगवान से प्रार्थना करते हैं कि उनके परिजनों को इस दुख को सहने की हिम्मत दे और उनका परिवार निरंतर उत्तरोत्तर प्रगति करता रहे। आज उन्हीं के कारण समाज को आरक्षण मिला हुआ है जिससे नौकरियों में भी अच्छी भागीदारी मिली है।

IMG 20210529 WA0009