जयपुर |Mahima Jain:अच्छी सेहत के लिए फल व सब्जियों का सेवन करना चाहिए लेकिन शहरी व ग्रामीण इलाकों में कुछ लोग सब्जियों के नाम पर ‘जहर की पैदावार की जा रही है। जयपुर में सांगानेर में भी ऐसे ही पानी से सब्जियां उगाई जा रही हैं लेकिन इन लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। जानकारी के मुताबिक नाले में पंपसैट लगाकर खेतों में जहरीला पानी सब्जियों में छोड़ा जा रहा है। इन सब्जियों के सेवन बीमारियों के जीवाणु लोगों के घरों तक पहुंच रहे हैं। इनके सेवन से लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।

fi scheme

गेहूं और बाजरे की खेती की जा रही

गौरतलब है कि मुहाना मोड सांगानेर के आसपास के इलाकों में गंदे नाले के पानी से सब्जी एवं गेहूं और बाजरे की खेती की जा रही है। गंदगी के साथ लोगों को रसायनों से अपशिष्ट मिले पानी की खेती से पैदा हुई सब्जियां खिलाई जा रही हैं। लेकिन जिम्मेदार इस ओर ध्यान नहीं देते और लोगों की सेहत से खिलवाड़ किया जा रहा है। इन खेतों में गंदे नाले के समीप इंजन रखकर पानी खींचा जा रहा है। सिंचाई के बाद तैयार सब्जी बाजार में धड़ल्ले से बेची जा रही है।

चिकित्सकों की क्या राय

चिकित्सकों ने बताया कि कैमिकल युक्त एवं गंदे पानी से सिंचित हरी सब्जियां व फल सेहत के लिए बेहद नुकसान दायक हैं। लंबे समय तक इनका सेवन करने से किडऩी, लीवर पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। एक तरफ जहां खेतों में घातक उर्वरकों का अंधाधुंध उपयोग से कैंसर जैसी बीमारियां बढ़ रही हैं वहीं ग्रामीण इलाकों में गंदा पानी भी लोगों को बीमारियां परोस रहा है।