कोविड-19 गंभीर मरीजों की संपूर्ण जांच अब जेएलएन हॉस्पिटल में संभव

0
17

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। अजमेर संभाग के सबसे बड़े चिकित्सालय में कोविड-19 गंभीर मरीजों को जांच के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा के आदेश अनुसार कोविड-19 संक्रमण के दौरान गंभीर हुए मरीजों के लिए रक्त संक्रमण और हृदय की संपूर्ण जांच चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने ऑटो एनालाइजर स्वचालित मशीन उपलब्ध कराई है।

हॉस्पिटल में बायो केमिस्ट्री लैब में इसका उद्घाटन करते हुए प्रधानाचार्य डॉ. वीर बहादुर सिंह और अधीक्षक डॉ. अनिल जैन ने मैग्लूमी 800 कैमी लुमिनिसेंस एनालाइजर का उद्घाटन करते हुए हर्ष व्यक्त किया कि अब मरीजों को अजमेर के सबसे बड़े संभाग हॉस्पिटल में एक ही लैब में कोविड19 से अस्पताल में भर्ती गंभीर रोगियों के संक्रमण की संपूर्ण जांच हो जाएगी और इसके लिए सैंपल बाहर भेजने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

प्रधानाचार्य ने विभागाध्यक्ष एवं प्रोफेसर डॉ. दीपा थदानी, आचार्य डॉ. सरला महावर के अथक एवं निरंतर प्रयासों और पूर्व सहायक प्रधानाचार्य और वरिष्ठ आचार्य बायोकेमिस्ट्री डॉ. जीजी कौशिक के सहयोग से उपलब्ध हुई। इस स्वचालित मशीन के लिए विभाग की पूरी पूरी प्रशंसा की।

कोविड-19 मरीजों के लिए आई एल6, डी डिमर, प्रो कलसीटोनिन, सीरम फरिटनिन, ट्रोपोनीन आई, एन टी प्रो बी एन पी की जांच शुरू की गई है।

इस अवसर पर वरिष्ठ फिजिशियन डॉ. संजीव माहेश्वरी, उप अधीक्षक डॉ. लाल थदानी, डॉ. अनिल सांवरिया, डॉ. आशा मकवाना, बायोकेमिस्ट्री लैब इंचार्ज कमलेश तनवानी, डॉ. अजय जैन, डॉ. नितिन शर्मा, रेजिडेंट डॉक्टर और लैब टेक्नीशियन भी मौजूद थे। अंत में प्रोफेसर डॉ. दीपा थदानी और डॉ. सरला महावर ने मिट्टी के गमलों में पौधों को समायोजित कर भेंट देते हुए हौसला अफजाई और कार्यक्रम में आने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया।