कोविड 19 के निर्देशों की उडाई धज्जियां, स्वास्थ कर्मी ही नही कर रहे पालना

0
164

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। एक और कोरोनावायरस ने समूचे विश्व में हाहाकार मचा रखा है। वहीं करौली जिले के हिंडौन में आम लोगों की तो बात ही क्या राजकीय कर्मचारी वे संवेदक भी घोर लापरवाही के चलते राज्य सरकार के निर्देशों की जमकर अवहेलना कर रहे हैं। इसी की बानगी मोहन नगर स्थित राजकीय चिकित्सालय में देखने को मिली। चिकित्सालय में इलाज के लिए आने वाले लोग कोरोना से बेपरवाह और बैखोफ नजर आए।लापरवाही के चलते उपचार कराने के लिए आने वालों की भीड़ पर अस्पताल प्रशासन की व्यवस्था नाकाफी नजर में आ रही है। उपचार करवाने के लिए आने वाले लोगों को दूरी बनाकर खड़ा करने तथा मास्क लगाने की नसीहत देने वालों की अस्पताल प्रशासन की और से कोई व्यवस्था नहीं है। लोग अपनी मनमर्जी से एक दूसरे से पहले चिकित्सक से उपचार कराने के चक्कर में भीड़ करके खड़े हो जाते हैं। ऐसे में कोरोना को रोकना मुश्किल नजर आ रहा है। अस्पताल में सुरक्षा कर्मचारी तो काफी हैं। लेकिन वे लोग भी यहां आए मरीजों को दूर-दूर खड़ा करने के लिए कोई प्रयास नहीं करते। अस्पताल प्रशासन भी जैसा चल रहा है, चलने दो के नियम पर काम कर रहा है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए कोविड नियमों के तहत हर व्यक्ति को मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है। इसके अलावा शारीरिक दूरी के नियम का भी लोगों को पालन करना, लेकिन अस्पताल में आने वाले लोग इन सब नियमों को दरकिनार कर रहे हैं। यहां आने वाले मरीज न तो मास्क लगा रहे हैं और न ही शारीरिक दूरी के नियम का पालन कर रहे हैं। हर चिकित्सक के कमरे के बाहर हेल्पर तैनात होता है मगर वह मरीज के नाम की आवाज लगाने तक ही सीमित रहता है। ऐसे में अस्पताल में संक्रमण फैलने का खतरा अधिक है।

अस्पताल में पर्ची वितरण केन्द्र पर बिना मास्क पर्ची काट रहा कर्मचारी

हिंडौन सरकारी हॉस्पिटल में अस्पताल प्रबधंन की लापरवाही से पर्ची वितरण केन्द्र पर एक संवेदक सैकड़ों मरीजों की बीच एक संवेदक कर्मचारी बिना मास्क लगाए नजर आया। जबकि वहां पर्ची लेने के लिए विभिन्न प्रकार के रोगियों की सैकडों की तादाद में भीड़ लगी रहती है।