नई दिल्ली कोरोना वायरस संक्रमण ने देश मे कोहराम मचा रखा है । वायरस से संक्रमित लोगों की मौतों का सिलसिला तेजी से बढ़ता जा रहा है हर आमजन को के साए में जी रहा है और ऐसे में धरती के भगवान चिकित्सक अपना हर संभव प्रयास कर रहे हैं संक्रमित रोगियों को बचाने और उन्हें स्वस्थ करने के लिए लेकिन जिस तरह पॉजिटिव रोगियों की संख्या बढ़ रही है इससे देश में चारों और ऑक्सीजन तथा बचाव की दवाइयों का भाव या कमी हो रही है उसको लेकर आमजन प्रशासन

सरकारी नहीं चिकित्सक तक गंभीर चिंतित हैं और इसी चिंता और पीड़ा से परेशान होकर देश के एक डॉक्टर ने कल दे रहा था आत्महत्या कर ली और अपने सुसाइड नोट में आत्महत्या का कारण ऑक्सीजन के अभाव में संक्रमित रोगियों को तड़पते हुए मरते मैं देख नहीं सकते इसलिए अपने जीवन को समाप्त कर रहे हैंदिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में डॉक्टर विवेक ने आत्महत्या की। सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा- वह कोरोना मरीजों की जान नहीं बचा पा रहे। आईसीयू( ICU) का जिम्मा संभाल रहे डॉ. विवेक राय प्रतिदिन ऑक्सिजन की कमी से मरते लोगों को देखकर हताश हो चुके थें।