रामगढ़ प्रदेश में अभी कोरोना महामारी पूरी तरह खत्म नहीं हुई है उसके बावजूद प्रशासन सुस्त नजर आ रहा है तो दूसरी तरफ आम जनता बेखौफ होकर बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते हुए भीड़ में जाने से नहीं कतरा रहे हैं।ऐसा ही एक नजारा आज रामगढ़ तहसील परिसर में देखने को मिला जहां मजिस्ट्रेट सरवन कुमार वकीलों की सूचना पर बाहर आकर देखा तो सैकड़ों की संख्या में तहसील परिसर के अंदर भीड़ मची हुई थी इस पर मजिस्ट्रेट श्रवण कुमार मीणा ने लोगों को लताड़ लगाते हुए रामगढ़ थाना पुलिस को मौके पर बुलवाकर भीड़ को खदेड़ने के निर्देश दिए इस पर और भाई जान क्या हाल है एएसआई हरप्रसाद और पुलिस बल ने लोगों को बाहर खदेड़ा। अधिवक्ता ओम प्रकाश चौहान ने मीडिया को बताया कि कोरोना महामारी काल में प्रशासन द्वारा लापरवाही बरतने के कारण तहसील परिसर में बेतहाशा भीड़ बढ़ रही है।इस पूरी कार्यवाही के दौरान तहसीलदार घमंडी लाल मीणा ग्राम पंचायत भवन में नगरपालिका का चार्ज लेने के कारण मौके पर उपस्थित नहीं रहे।इस मौके पर मजिस्ट्रेट श्रवण कुमार ने अधिवक्ताओं की गठीत कर बेवजह तहसील परिसर में आने वालों पर निगरानी रखने के बार एशोसिएशन को निर्देश दिए।