जयपुर धर्म- पुण्य का वैशाख महीना शुरू हो गया है। यह 26 मई तक चलेगा। शुक्रवार यानी आज वैशाखी चौथ है। जिस पर महिलाएं अखंड सौभाग्य की कामना लिए उपवास रखती है। इसे संकष्टी चौथ और संकष्ट चतुर्थी भी कहते हैं। अपनी परंपराओं को निभाने के लिए कुछ भी करने को तैयार रहती है। और इसका उदाहरण शुक्रवार को भी देखने को मिला। जहा एक और कोरोना संक्रमण का भय बना हुआ है और डॉक्टर किसी को भी भूखे पेट नहीं रहने की हिदायत दे रहे हैं। ऐसे में महिलाओं ने पति की दीर्घायु और अखंड सौभाग्य प्राप्ति के लिए साल की चार बड़ी चौथ में से सबसे बड़ी वैशाख चौथ का व्रत किया है। ऐसे ही एक शादी में अनोखा अंदाजा देखने को मिला जिसमें हर्षिता सिंह को दीपेंद्र सिंह ने पानी पिलाकर उपवास खुलवाया। ऐसे रात 10:50 से देर रात 12 बजे तक महिलाएं छतों पर चांद का निकलने का इंतजार करती रही। पंडितों ने कहा है कि निराहार व्रत होता है लेकिन शरीर रक्षा पहले है।

रिपोर्टर अजय सिंह