नई दिल्ली।  वायरस संक्रमण की दूसरी लहर ने पूरी तरह से कोहराम मचा रखा है और अब इस वायरस ने मौत का तांडव मचा रखा है कि इससे संक्रमित रोगियों की मौतों का सिलसिला चल निकला है और ऐसे भयावह वातावरण के बीच भी लोग शादियां करने से नहीं मान रहे हैं और उसका नतीजा सामने भी आने लगा है ।

जहां एक जगह शादी से 1 दिन पहले दुल्हन की मौत हो गई तो वही 3 जगह शादी के बाद दूल्हो की मौत हो गई इसके पश्चात भी लोग सबक नहीं ले रहे हैं और प्रशासन से चोरी छुपे रास्ता निकाल कर गांव में जंगलों में शादियां कर रहे हैं आखिर क्यों ?

राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले के भदसेर उपखंड में कल जहां शादी के 2 दिन बाद ही दुल्हन की मेहंदी भी फीकी नहीं पड़ी थी कि दूल्हे की संक्रमित होने से मौत हो गई इसी तरह भीलवाड़ा के प्रताप नगर थाना क्षेत्र में स्थित बापू नगर में भी शादी के बाद दूल्हे की मौत हो गई।

वही उत्तर प्रदेश के ही बरेली में शादी के 2 दिन बाद ही दूल्हा संक्रमित होकर अस्पताल पहुंचा और उसके उपचार के दौरान कोरोना से मौत हो गई इसी तरह जौनपुर में शुक्रवार को शादी के ही दिन दुल्हन की मौत से कोहराम मच गया। दुल्हन की ड्यूटी कुछ दिन पहले पंचायत चुनाव में लगी थी। ड्यूटी के दौरान ही संक्रमित होने से उसकी तबीयत खराब हो गई थी।

जिले के मुंगराबादशाहपुर नगर के मोहल्ला गुड़हाई निवासी संतोष मोदनवाल की बेटी ज्योति मोदनवाल की शादी 30 अपैल को निर्धारित थी। ज्योति प्राइमरी स्कूल की शिक्षिका थी। उनकी तैनाती मेरठ जिले में हुई थी। वहां पर त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में उनकी डयूटी लगायी गयी थी। ड्यूटी के दौरान वह संक्रमित हो गई।

डयूटी से लौटने के बाद ही उसकी तबीयत बिगड़ने लगी। मेरठ में ही जांच कराई तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 28 अप्रैल को उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। परिवार वालों को सूचना मिली तो कोहराम मच गया। शादी की तैयारी में लगे लोग मेरठ भागे।वहां शुक्रवार को उसकी मौत हो गई।