कोई नहीं कोटा मेडिकल कॉलेज में कोविड19 मरीजों की सुध लेने वाला

0
17

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। कोरोना पॉज़िटिव भर्ती मरीजों की कोटा मेडिकल अस्पताल में लापरवाही के चलते स्थिति गंभीर होती जा रही है। भर्ती मरीजों की अस्पताल में देखभाल करने वाला कोई नहीं है। उनके बेड पर दवा गोली रख दी जाती है। लेकिन उन दवाओं को खिलाने वाला कोई भी नही है।

गम्भीर मरीजों से अस्पताल में यह भी पूछने वाला नहीं कि उन्होंने दवा खाई या नहीं। अस्पताल के वार्डो में सफाई की व्यवस्था ठीक नहीं है और कचरा डालने का डिब्बा तक नही है। जिसके चलते गम्भीर मरीजों को भी कचरा डालने दूर जाना पड़ता है और मरीज की ज्यादा तबियत खराब होने की संभावना बन जाती है।

बारां शहर के वरिष्ठ पत्रकार दिलीप शाह ने बताया कि उनकी पत्नी बीना शाह आइसोलेशन के शिशु वार्ड के बेड नम्बर 25 पर भर्ती है। उन्होंने बताया कि अस्पताल में मरीजो को दवा देने वाला कोई नही है और न ही उनसे कोई पूंछने वाला कि दवा उन्होंने खाई या नहीं। उन्होंने बताया की अस्पताल की कैंटीन बन्द होने के कारण और रविवार को लॉक डाउन के चलते कोटा के बाहर से आये लोगों को भूखा रहकर रात गुजरनी पड़ी।