जयपुर | Deepika Jangir: तीनों लड़के दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के रहने वाले हैं। जिस आतंकवादी कमांडर ने उनसे संपर्क किया था, वह खुद को तैयब फारूकी बताता था।

कश्मीर के कुपवाड़ा में पुलिस ने LoC क्रॉस करने की कोशिश कर रहे 3 नाबालिगों को पकड़ा है। पुलिस के मुताबिक, ये तीनों पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में बैठे आतंकी कमांडर के संपर्क में थे। SSP युगल मन्हास ने बताया कि एक खास सूचना के बाद पुलिस ने तीनों को कुपवाड़ा के एक ठिकाने से पकड़ लिया।

उन्होंने कहा कि दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के रहने वाले तीनों लड़कों से एक आतंकवादी कमांडर ने संपर्क किया था। वह खुद को पाकिस्तान में एक्टिव तैयब फारूकी बताता था। ये तीनों उससे मिलने और ट्रेनिंग लेने के लिए कुपवाड़ा के रास्ते नियंत्रण रेखा पार करने जा रहे थे। वहां इन्हें ट्रेनिंग के साथ हथियार देकर वापस कश्मीर में आतंकवाद फैलाने के लिए भेजा जाना था।

तीनों को परिवार को सौंपा
पूछताछ में पुलिस को पता चला कि दक्षिण कश्मीर के इन युवाओं को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए कट्टरपंथ की ओर प्रेरित किया गया है। इसी वजह से वे हिंसा के रास्ते में जाने को तैयार हो गए। इन लड़कों के हालात और कम उम्र को देखते हुए जम्मू-कश्मीर पुलिस ने उन्हें एक मौका देने का फैसला लिया है। SSP ने कहा कि तीनों लड़कों के माता-पिता को बुलाया गया और बातचीत के बाद किशोरों को उन्हें सौंप दिया गया।

सेना चला रही ऑपरेशन ऑलआउट
जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों का ऑपरेशन ऑल आउट जारी है। बुधवार को ही सेना ने 2 अलग-अलग एनकाउंटर में TRF कमांडर सहित 5 आतंकियों को ढेर कर दिया था। दोनों ही एनकाउंटर कश्मीर के कुलगाम जिले में हुए। TRF कमांडर का नाम अफाक सिकंदर था।