जयपुर – प्रदेश का उजाड़ा क्षेत्र के नाम से विख्यात कोटा जिले का दीगोद उपखंड के करीब 200 गाँवो की युवा शक्ति ने जीवन के अधिकार के अंतर्गत सीएचसी सुल्तानपुर में सोनोग्राफी, बल्ड बैंक, ऑपरेशन थिएटर जैसी आवश्यक मूलभूत सुविधाओं को लेकर गहलोत सरकार सहित क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों को पाँच दिन से युवा शक्ति ने सोशल मीडिया ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम जैसे सोशल प्लेटफॉर्म पर रोज आड़े हाथ ले रहे है फिर भी सरकार युवा शक्ति की मांग को लेकर उदासीन दिखाई दे रही है दूसरी ओर युवा शक्ति अपनी मांगों को लेकर दृढ़ संकल्पित है इन्होंने निश्चित कर लिया है की अगर जरूरत पड़ी तो प्रत्यक्ष रूप से गहलोत सरकार सहित क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों के खिलाफ आंदोलन ही क्यों ना करना पड़े युवा शक्ति का कहना है की क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों को पार्टी की सीमाओं से ऊपर उठकर अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों की मांगों पर विचार करना होगा क्योंकि युवा शक्ति किसी पार्टी विशेष से अपना संबंध नहीं रखती है। यह युवा शक्ती जनहित में कार्य के लिए खड़ी हुई है, हमारा लक्ष्य सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय है अपनी मांगों के प्रति सरकार की उदासीनता को देखते हुए युवा शक्ति ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, सीएमओ, पीएमओ, जिला कलेक्टर,संपर्क पोर्टल, एक्टर्स ओर समाजसेवी सोनू सूद ,सहित केंद्रीय मंत्रियों को टैग कर टि्वटर वार शुरू कर दिया है।गौरतलब है कि कुछ दिन पहले क्षेत्र युवा पत्रकार नमो नारायण पारीक द्वारा सोनोग्राफी मांग को प्रमुखता से प्रकाशित किया था जिसके बाद दिगोद उपखंड की युवा शक्ति ने अपनी मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया आंदोलन ही छेड़ दिया दीगोद उपखंड का सबसे बड़ा अस्पताल सुल्तानपुर सीएचसी है जिसका संबंध मेडिकल कॉलेज कोटा से है । फिर भी क्षेत्र के लोगों की मूलभूत चिकित्सा सुविधाएं पूरी नहीं हो पा रही है गर्भवती महिलाएं हो , या फिर उच्च रक्तदाब या मधुमेह का रोगी प्राथमिक उपचार के बाद उसे 60 किलोमीटर दूर कोटा जाकर ही अपनी सोनोग्राफी ओर इलाज करवाना पड़ता है । कहीं बार देखने में आया की सड़क दुर्घटना में लोगों को प्राथमिक उपचार के बाद कोटा रेफर दिया जाता है । क्योंकि यंहा पर मूलभूत चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध नहीं है । मूलभूत सुविधाएं ना होने के कारण कहीं लोग कोटा पहुंचने से पहले ही जीवन की सांसे बंद हो जाती है । क्षेत्र के राज्य सरकार और केंद्र सरकार से संबंध रखने वाले जनप्रतिनिधि सरकार से अपने क्षेत्र के लिए ऑक्सीजन , ऑपरेशन थिएटर , सोनोग्राफी ब्लड बैक जैसी मूलभूत सुविधाएं मांग कर लोगो को उपलब्ध करवा दें तो क्षेत्र के कई लोगों की जान बचाई जा सकती हैं दीगोद उपखंड की युवा शक्ति की मांग है कि गहलोत सरकार उजाड़ा के सबसे बड़ी सीएचसी सुल्तानपुर मे जल्दी ही सोनोग्राफी ,ऑपरेशन थिएटर, बल्ड बैंक जैसी मूलभूत उपलब्ध करवाए नही तो सोशल मीडिया आंदोलन को प्रत्यक्ष रूप से जन आंदोलन में तब्दील किया जायेगा जिसकी समस्त जिम्मेदारी युवा शक्ति कि नही सरकार की होगी |