अब तो काम की असली शुरुआत हुई है: पीएम मोदी

0
106

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज एक बार फिर से राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के ​जरिए देशवासियों को संबोधित किया। बता दें कि ’21वीं सदी में स्कूली शिक्षा’ सम्मेलन दो दिवसीय है। सम्मेलन हाल ही में गुरूवार से शिक्षा पर्व के रूप में शुरू हुआ है।

प्रधानमंत्री कार्यालय से हुए इस सम्मेलन की शुरूआत में पीएम मोदी ने कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत होने जा रहे बदलावों और आने वाली चुनौतियो को लेकर करीब 15 लाख से ज्यादा सुझाव मिले। साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि पिछले तीन दशकों में दुनिया के हर क्षेत्र में बदलाव और नई व्यवस्था आई है। उन्होंने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति भी नए भारत की, नई उम्मीदों की, नई आवश्यकताओं की पूर्ति का माध्यम है। इसके पीछे पिछले 4-5 वर्षों की कड़ी मेहनत है, हर क्षेत्र, हर विधा, हर भाषा के लोगों ने इस पर दिन रात काम किया है। लेकिन ये काम अभी पूरा नहीं हुआ है

साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि अब तो काम की असली शुरुआत हुई है। अब हमें राष्ट्रीय शिक्षा नीति को उतने ही प्रभावी तरीके से लागू करना है और ये काम हम सब को मिलकर करना है। उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लागू करने के इस अभियान में हमारे प्रिंसिपल्स और शिक्षक पूरे उत्साह से हिस्सा ले रहे हैं। मोदी ने कहा कि पिछले कुछ दशकों से शिक्षा नीति में बदलाव बहुत आवश्यक था। नई शिक्षा नीति से नए भारत के उम्मीदों को बल मिलेगा। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने 7 अगस्त को शिक्षा नीति के तहत उच्च शिक्षा में परिवर्तनकारी सुधार पर सम्मेलन में उद्घाटन भाषण दिया था।