उन्नाव रेप पीड़िता के पिता की हिरासत में मौत के मामले आरोपियों को 10 साल की सजा….

0
53
kuldeep sengar

मरुधर बुलेटिन न्यूज़ डेस्क। उन्नाव के रेप केस में पीड़िता के पिता की हिरासत में मौत के मामले में दिल्ली कोर्ट ने शुक्रवार को अपना फैसला सुनाया है। अदालत ने इस मामले में भाजपा के पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत सात आरोपियों को 10 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई है। कोर्ट ने कुलदीप सेंगर व उनके भाई अतुल सेंगर समेत सभी आरोपियों पर 10-10 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है। ये रकम पीड़ित परिवार को बिना किसी शर्त के मुआवजे के तौर पर दी जाएगी। बता दें कि, पुलिस कस्टड़ी में 9 अप्रैल 2018 को पीड़िता के पिता की मौत हो गई थी।


इस मामले में गुरुवार को सजा पर बहस होनी थी लेकिन किन्ही कारणों की वजह से कार्रवाई शुक्रवार के लिए टाल दी गई थी। गुरुवार को सुनवाई के दौरान सेंगर ने जज से कहा कि अगर मैने कुछ गलत किया है तो मुझे फांसी पर लटका दिया जाए या फिर मेरी आंखो में तेजाब डाल दिया जाए। इस बात पर जज ने जवाब दिया कि सभी तथ्यों को देखकर ही आपकों दोषी ठहराया गया है। तीस हजारी कोर्ट के न्यायाधीश ने कहा कि यह मेरे जीवन का सबसे ज्यादा चुनौतीपूर्ण ट्रायल रहा है। जज ने सीबीआई व पीड़ित के वकील की भी तारीफ की। जज ने कहा कि दुष्कर्म पीड़िता के पिता को कुलदीप सेंगर ने पुलिस कर्मियों के साथ मिलकर फंसाया था। पीड़िता के पिता के साथ इतनी बेरहमी से मारपीट की गई थी कि उसकी हिरासत में ही मौत हो गई। बता दें कि, दुष्कर्म के मामले में कोर्ट कुलदीप सिंह सेंगर को पहले ही उम्रकैद की सजा दे चुकी है जिसमें प्राकृतिक मृत्यु तक उसे जेल में रखने के आदेश हैं।