डेस्क न्यूज़: मध्यप्रदेश के ग्वालियर में शनिवार सुबह एक दिल दहला देने वाला हादसा हो गया। कैलाश टॉकीज के पीछे स्थित गंगवाल भवन गेट के सामने शनिवार सुबह करीब 10:30 बजे नगर निगम के कचरा वाहन की चपेट में आने से तीन साल की बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई। बच्ची को उठा मां की गोद में थमाकर चालक गाड़ी लेकर फरार हो गया। बच्ची की गर्दन मां की गोद में लटकी हुई थी। बच्ची के कचरा गाड़ी से कुचले जाने की पूरी घटना सामने लगे सीसीटीवी कैमरे में साफ कैद हो गई। घटना की सूचना मिलते ही इंदरगंज थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने नगर निगम के अधिकारियों को नगर निगम के वाहन को जब्त करने की सूचना दी है।

मां की उंगली पकड़कर कचरा डालने आई थी बच्ची

गंगवाल भवन के गेट के पास मल्टी है। शनिवार सुबह करीब 11 बजे नगर निगम की गाड़ी घर-घर कूड़ा उठाने के लिए आई। ड्राइवर और उसके सहायक ने कार मल्टी के सामने खड़ी कर दी। कई लोग कूड़ा फेंकने के लिए आने लगे। इसी मल्टी के निवासी आशु अग्रवाल की पत्नी कार में कूड़ा फेंकने आई थी। तीन साल की काम्या भी उंगली पकड़कर आई। माँ ने गाड़ी में कूड़ा डाला। कोई नहीं जानता था कि तीन साल की मासूम कब कचरा गाड़ी के सामने आ गई और कार के पहिए के नीचे आ गई।

बाइक से ले गए बच्ची को अस्पताल

गाड़ी के दोनों पहिये गुजर जाने के कारण बच्ची का शरीर प्राणहीन हो गया था। आनन-फानन में बाइक मल्टी से पार्किंग से बाहर निकाली। मां बच्ची को लेकर पीछे बैठी। सबसे पहले घरवाले बच्ची को लेकर पाटनकर बाजार स्थित शांता नर्सिंग होम लेकर पहुंचे। डाक्टर ने नब्जा देखने के बाद सीधे जेएएच ले जाने की सलाह दी। घरवाले बच्ची को लेकर कैज्युअल्टी पहुंचे। जहां डाक्टर के द्वारा बच्ची को मृत घोषित करते ही बच्ची के माता-पिता की उम्मीद टूट गई। आशु अग्रवाल के दो बच्चियां हैं, जिसमें एक बेटी पांच साल की है, वो घर में ही थी। केवल यही बच्ची मां के साथ कचरा डालने के लिए आ गई थी।

बच्ची के ऊपर से गाड़ी निकलने का मंजर सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआः

Crime

मल्टी के सामने ही बंगले में सीसीटीवी कैमरा लगा है। पूरा घटनाक्रम सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआ है। कचरा गाड़ी में क्षेत्र के लोग कचरा डाल रहे थे। गाड़ी का हेल्पर कचरा डालने में लोगों की मदद कर रहा था। चालक दूसरी साइड से ड्राड्रविंग सीट पर आया। पहले उसने बोतल निकालकर पानी पिया, और उसके बाद ड्राइविंग सीट पर बैठ गया। अचानक तीन साल की बच्ची ड्राइविंग सीट के पहिए के पास नजर आती है। स्टार्ट करने पर चालक के आगे गाड़ी बढ़ाते ही बच्ची को बंपर की टक्कर लगती है, वह सड़क पर गिरती है। पहले पहिया निकलने के बाद दूसरा पहिया भी उसके ऊपर से गुजर जाता है। यह घटनाक्रम मात्र 15 से 20 सेकेंड का है। चालक आगे गाड़ी राेकता है। सड़क पर बच्ची को उठाता है, और मां की गोद में थमा देता है। बच्ची की हालत देखकर मां के होश उड़ जाते हैं। मौके पर चीख-पुकार मच जाती है। एक युवक बाइक पार्किंग से निकालकर लाता है और पड़ोसन से दुपट्टा लेकर बाइक पर बैठकर अस्पताल लेकर दौड़ती है। लोगों का कहना है कि बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई थी। चालक का नाम साजिद खान बताया गया है। यह गाड़ी वार्ड-65 की है। इंदरगंज थाना पुलिस ने दुर्घटना की जांच शुरू कर दी है।

राजस्थान में ₹150 पार पहुंच सकती है पेट्रोल-डीजल की कीमतें

Follow us on:

Facebook

Instagram

YouTube

Twitter