जयपुर|Mahima Jain:एक बार फिर कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन ने सबके होश उड़ा दिए है क्युकी भारत में ओमिक्रॉन की एंट्री हो चुकी है। दक्षिण अफ्रीका में दुनिया का पहला केस मिलने के 9 दिन बाद ही गुरुवार को कर्नाटक में इस वैरिएंट के दो केस सामने आए हैं। इधर, राजस्थान में भी चिंता बढ़ गई है। प्रदेश में 7 दिन पहले दक्षिण अफ्रीका से जयपुर आए एक परिवार के 4 लोग पॉजिटिव आए हैं। इनमें दंपती समेत उनकी दो बच्चियां (8 और 15 साल) पॉजिटिव मिले हैं।चिंता की बात यह है कि वे आदर्श नगर में जिन 12 रिश्तेदारों से मिले, उनमें से भी 5 लोग पॉजिटिव आए हैं। इनमें कोरोना से पीड़ित 16 साल का बच्चा भी है।

large RLVqLIgOmev6 3u9FD1 bwvk8QuhriikQFzX9Km4b6E

जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए सैंपल लिए गए

सभी को ओमिक्रॉन का संदिग्ध मानते हुए क्वारैंटाइन किया गया है। अब जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए इनके सैंपल लिए गए हैं। रिपोर्ट आने पर ही पता चल सकेगा कि इनमें ओमिक्रॉन है या नहीं। राहत यह है कि बच्चों को छोड़कर सभी वयस्कों को टीके की दोनों डोज लगी हैं। उनमें कोरोना के लक्षण नहीं हैं और हालत गंभीर नहीं है।

राजस्थान यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस(आरयूएसएच) के अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत ने बताया कि द.अफ्रीका से लौटे परिवार को ओमिक्रॉन का संदिग्ध मानते हुए अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। बता दें कि यह परिवार 25 नवंबर को अफ्रीका से लौटा था। इसके बाद आदर्श नगर में रिश्तेदारों से मिला था। बुधवार को आदर्श नगर में रहने वाले परिवार का एक व्यक्ति संक्रमित आया फिर सभी की जांच की गई।

कोरोना के केसेस में इजाफा

इधर, प्रदेश में लगातार कोरोना के केस में बढ़ाेतरी हो रही है। नवंबर में करीब 365 केस अब तक आ चुके हैं। इनमें जयपुर सबसे हॉट स्पॉट बना हुआ है। वहीं लगातार बच्चे भी संक्रमित हो रहे हैं। गुरुवार को भी 21 पॉजिटिव केस सामने आए थे