जयपुर।Deepika Jangir: कोरोना का नया वैरिएंट ‘बी.1.1.529’ दक्षिण अफ्रीका में मिला है। इसमें अबतक 32 म्यूटेशन हो चुके हैं। वैज्ञानिक इसे डेल्टा व डेल्टा प्लस से भी ज्यादा संक्रामक बता रहे हैं। इसी कारण केंद्र सरकार ने भी सभी राज्यों में अलर्ट जारी कर दिया है। द. अफ्रीका के 3 प्रांतों में रोज मिलने वाले 90% केस इसी वैरिएंट के हैं, जो 15 दिन पहले सिर्फ 1% थे। वैज्ञानिकों को यही बात सबसे ज्यादा डरा रही है। क्योंकि, अभी तक सबसे तेजी से फैलने वाला वैरिएंट डेल्टा था, जिससे दुनिया में तीसरी लहर आई थी।

वैज्ञानिकों का कहना है कि म्यूटेशन के मामले में इस नए वैरिएंट ने अब तक के सामने आए सभी वैरिएंट को पीछे छोड़ दिया है। यह नया संक्रमण डेल्टा से भी ज्यादा खतरनाक है और उससे कहीं ज्यादा संक्रामक है। डेल्टा से 7 गुना तेजी से फैल रहा है। यही नहीं, यह तेजी से म्यूटेट भी हो रहा है। पकड़ में आने से पहले ही इसमें 32 म्यूटेशन हो चुके हैं। इसे देखते हुए यूरोपीय यूनियन के सभी 27 देशों ने 7 अफ्रीकी देशों से उड़ानों पर रोक लगा दी है। इधर, भारत में नए वैरिएंट का कोई केस नहीं मिला है। फिर भी सिंगापुर, मॉरीशस समेत 12 देशों से आने वाले यात्रियों की गहन जांच होगी।

कोरोना के नए वैरिएंट को देखते हुए ब्रिटेन के बाद इटली और जर्मनी ने भी कड़े कदम उठाए हैं। जर्मनी ने दक्षिण अफ्रीका की ज्यादातर यात्राओं पर प्रतिबंध लगा दिया है, तो वहीं इटली में भी दक्षिण अफ्रीकी देशों की यात्राओं पर प्रतिबंध लगाया गया है। इसके अलावा सिंगापुर ने भी कोरोना का नया वैरिएंट सामने आने के बाद सात दक्षिण अफ्रीकी देशों की उड़ानों को अस्थाई तौर निलंबित कर दिया है।