एयर इंडिया की बेची जाएगी 100 फीसदी हिस्सेदारी…

0
74

मरुधर बुलेटिन न्यूज़ डेस्क। सरकार एयर इंडिया की 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने जा रही है। इसे बेचने के लिए प्लान पेश किया गया है जिसमें कहा गया है कि एयर इंडिया एक्सप्रेस की 100 फीसदी हिस्सेदारी बेची जाएगी। तमाम विरोधों के बावजूद सरकार ने एयर इंडिया को बेचने के लिए सोमवार को इसका प्रारंभिक जानकारी वाला मेमोरंडम जारी कर दिया है। जारी किए गए बिड डॉक्यूमेंट में बताया गया है कि एयर इंडिया एक्सप्रेस की 100 फीसदी हिस्सेदारी बेची जाएगी। साथ ही एयर इंडिया और SATS की जॉइंट वेंचर कंपनी AISATS में से एयर इंडिया की 50 फीसदी हिस्सेदारी बेची जाएगी।


सरकार ने एयर इंडिया के लिए अभिरुचि दिखाने के लिए 17 मार्च तक की डेडलाइन दी है। सूत्रों के हवाले से पता चला है कि एयर इंडिया की नीलामी में शामिल होने के लिए कई विदेशी कंपनियां भी भारतीय कंपनियों से साझेदारी कर सकती है। इसके अलावा एयर इंडिया के बिडर्स में टाटा समूह , हिंदुजा ब्रदर्स , इंडिगो , स्पाइजेट और कई अन्य कंपनियां शामिल है। बिडिंग प्रोसेस शुरु होने के कुछ दिन पहले ही सुब्रमण्यम स्वामी ने सरकार को चेताया भी था। स्वामी का कहना है कि इस समय एयर इंडिया के विनिवेश पर सलाहकार समिति के समक्ष विचार किया जा रहा है। वह खुद भी इस समिति के सदस्य है। स्वामी ने कहा कि अगर सरकार आगे बढती है तो वे सुप्रिम कोर्ट की शरण में जाएंगे। बता दें कि, एयर इंडिया पर हजारों करोड रुपये का कर्ज है। विनिवेश योजना की जानकारी रखने वाले एक अधिकारी ने बताया कि , ‘अब एअर इंडिया पर महज 18,000 करोड़ रुपये का कर्ज है. जब इसके लिए बोली आमंत्रित की जाएगी, तो उसमें खातों में 18,000 करोड़ रुपये का कर्ज ही दिखाया जाएगा.’