शाहरुख खान की चचेरी बहन की कैंसर से मौत…

0
41

मरुधर बुलेटिन न्यूज़ डेस्क। कैंसर की बीमारी से लंबे समय तक झुझने के बाद बॉलीवुड के सुपरस्टार शाहरुख खान की चचेरी बहन नूरजहां की 52 वर्ष की उम्र में मंगलवार को निधन हो गया। नूरजहां पाकिस्तान के पेशावर में रहती थी। कुछ समय पहले ही भारतीय मीडिया में नूरजहां के कैंसर से पीड़ित होने की खबर आई थी, और अब उसके कुछ टाइम बाद उनकी मौत हो गई। नूरजहां की मौत की खबर की पुष्टि उनके छोटे भाई मंसूर ने की। नूरजहां के पति आसिफ बुरहान ने कहा कि उन्हें काफी वक्त से मुहं के कैंसर की बीमारी थी। शाहरुख के पिता और नूर जहां के पिता भाई थे और नूरजहां और शाहरुख के बीच अच्छे संबंध थे। नूरजहां अपने चचेरे भाई शाहरुख से मिलने इंडिया उनके घर भी आया करती थी। नूरजहां दो बार साल 1997 और साल 2011 में शाहरुख से मिलने आई थी। शाहरुख भी अपनी बहन के लिए लगाव रखते थे, दोनो अक्सर फोन पर बात किया करते थे। बचपन में दो बार अपने माता-पिता के साथ शाहरुख भी चचेरी बहन नूरजहां के पेशावर वाले घर गए थे। शाहरुख को पेशावर से बहुत लगाव है और वो अपने परिवार के साथ वहा जाना चाहते है। एक इंटरव्यू में शाहरुख ने कहा था कि ‘मेरा परिवार पेशावर से है। अभी भी कुछ लोग वहां रहते हैं। मैं वहां जाने के लिए बहुत उत्सुक हूं। बच्चों को भी वहां ले जाना चाहता हूं, क्योंकि मेरे पापा भी मुझे 15 साल की उम्र में वहां ले गएं थे। मेरे पास भी बेहद खूबसूरत पलों की यादें हैं, जो मैने अपने पिता के साथ पेशावर, कराची और लाहौर में गुजारे हैं। वहां के लोगों का रवैया बहुत नर्म है। वे मेहमान नवाजी बहुत अच्छी करते हैं। वहां से मैंने लोगों को प्यार करना सीखा है।‘ नूरजहां राजनीति में आने से पहले जिला और नगर पार्षद के रुप में कार्यरत थी। 2018 के आम चुनावों में पीके-77 क्षेत्र की खैबर पख्तूनख्वा असेंबली सीट से बतौर निर्दलीय उम्मीदवार अपना नामांकन देने के बाद नूरजहां सुर्खियों में आई थी। बाद में नूरजहां ने अपना निर्दलीय नामांकन वापस ले लिया था। पाकिस्तानी राजनीति के बड़े दिग्गजों में नूरजहां की पहचान थी।