देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण पर ट्वीट करने को लेकर चिंटू जी हुए ट्रॉल

0
74
Rishi Kapoor

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने पूरे देश को 14 अप्रैल तक लॉक डाउन करने का फैसला लिया जिसके बाद कई सेलेब्स और खेल जगत के सितारे भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस फैसले का समर्थन करते हुए नजर आए। लॉक डाउन के बाद से ही बॉलीवुड के स्टार कई स्टार्स सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव नजर आ रहे हैं। बॉलीवुड के बेहतरीन अभिनेताओं में शुमार ऋषि कपूर भी हमेशा ही सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हैं और हर मुद्दे पर अपनी राय अपने विचार रखने से कतई पीछे नहीं हटते। कई बार उनकी लोग तारीफ भी करते हैं तो कई बार अपने दिए बयानों को लेकर चिंटू जी को ट्रोल भी होना पड़ता है। इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ है जब ऋषि कपूर अपने एक ट्वीट को लेकर ट्रोलर्स के हत्थे चढ़ गए हैं।

दरअसल, देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए ऋषि कपूर ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट ट्विटर पर एक ट्वीट किया. उन्होंने लिखा-प्रिय देशवासियों। हमें जल्द ही पूरे देश में EMERGENCY घोषित कर देनी चाहिए। देखिए, पूरे देश में क्या हो रहा है! टीवी की मानें तो लोग पुलिसकर्मियों और मेडिकल स्टाफ को पीट रहे हैं! स्थिति को नियंत्रित करने का कोई अन्य तरीका नहीं है। यह हम सभी के लिए यही एक अच्छा रास्ता है। लोगों के अंदर देहसत स्थापित हो रही है।

एक यूजर ने लिखा कृपया 6:00 बजे के बाद कपूर्स को सीरियस लेना बंद कर दें।

सोशल मीडिया यूजर्स को ऋषि कपूर की यह बात कतई पसंद नहीं आई और यूजर्स ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया। यूज़र ने उनकी ड्रिंकिंग हैबिट के बारे में बोलते हुए कहा – अल्कोहल से आपके दिमाग पर असर हुआ है। कृपया रिलैक्स रहिए और आराम कीजिए।

एक अन्य यूजर ने पुलिस वालों का लोगों को मारते हुए एक वीडियो शेयर किया और लिखा कि लोग पुलिस वालों को मार रहे हैं? क्या आप जरूरत का सामान लेने के लिए घर से बाहर निकले हैं। सर मैं पुलिस द्वारा लोगों को मारने की खबरों के बारे में तो नहीं बता सकता लेकिन फिर भी आप कुछ पढ़िए और देखिए। तो वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा चिंटू जी, दारु थोड़ी कम पिया करो। बता दें कि देश में कोरोनावायरस के लगातार बढ़ते संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार ने देश को 21 दिन के लिए लॉक डाउन कर दिया है जिसके तहत लोगों को घरों से बाहर निकलने की मनाही है। केवल जरूरत का सामान लेने के लिए ही लोग घरों से बाहर आ सकते हैं।