जयपुर|Mahima Jain:प्रदेश में बढ़ रही गन्दगी को लेकर निगम ने ठोस कदम उठाया है सफाई व्यवस्था सुधारने के लिए निगम ने बीवीजी पर और सख्ती की है। रविवार को प्रति शिकायत 50 रुपए का जुर्माना का प्रावधान किया था। इधर, सोमवार को निगम ने एप लॉन्च कर दिया। एप पर लोगों को गंदगी की फोटो डालनी होगी। 24 घंटे में बीवीजी ने कचरा उठा कर फोटो एप पर नहीं डाली तो हर दिन 100 रुपए जुर्माना निगम करेगा।निगम ने यह एप ‘वेस्टबिन माॅनिटर’ नाम से डवलप किया है।

फिलहाल निगम स्तर पर ट्रायल किया जा रहा है। हालांकि आम नागरिक इस एप काे प्ले स्टाेर से डाउनलाेड कर गंदगी की शिकायत करने के लिए फाेटाे शेयर कर सकते हैं।वहीं कचरा उठा लिया गया ताे बीवीजी काे उस जगह की साफ फाेटाे भेजनी हाेगी। ग्रेटर निगम के स्वास्थ्य उपायुक्त मुकेश कुमार ने बताया कि इस एप के बारे में जाेन वाइज सीएसआई, एसआई काे प्रशिक्षित कर दिया गया है।

15 01 2019 15god15 c 2 18858935 3053
DJLIY¨FSF CXNXF°Fe ³F¦FS ´FdS¿FQ IZY ½FFW³F

गूगल प्ले स्टाेर से वेस्टबिन माॅनिटर एप डाउनलाेड करें। वेस्ट इमेज ऑप्शन पर क्लिक करें और कचरे की फाेटाे डाल दें। 3 तरह के कचरे की फाेटाे भेज सकते हैं, स्टाेरेज पाइंट, डिपाे व लिटरबिन की। कचरा उठते ही मैसेज मिल जाएगा।नगर निगम की ओर से इस एप का ज्यादा-ज्यादा से प्रचार-प्रसार किया गया ताे लाेग जागरूक हाेंगे। समय पर कचरा उठने लग जाएगा।

अगर कंपनी समय पर कचरा नहीं उठाई ताे पेनल्टी लगेगी, जिससे निगम काे राजस्व बचेगा।बीवीजी ने हड़ताल ताे खत्म कर दी और वार्डाें में हूपर चले फिर भी साेमवार काे सड़काें से 40 फीसदी ही कचरे के ढेर उठे। इसकी वजह है कि दाे दिन डाेर-टु-डाेर कचरा संग्रहण नहीं हाेने के कारण सड़काें पर जगह जगह कचरे के ढेर लग गए। ऐसे में सभी जगह से कचरा नहीं उठ पाया। कंपनी का कहना है कि जल्द ही शहर से कचरा उठाया जाएगा।