Deepika jangir: देश के प्रत्येक नागरिको को स्वच्छ जल उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से हर घर जल, हर घर नल के लिये जल जीवन मिशन के तहत पीएचईडी के एक्सईएएन जैतसिंह व जीवीटी के जिला परियोजना समन्वयक राजेन्द्रप्रसाद सैन के निर्देश अनुसार मंगलवार को ग्राम पंचायत गेनाणगढ मे पीआरए बैठक आयोजित की गई।बैठक मे जल जीवन मिशन (जीवीटी) के ब्लॉक समन्वयक भीखाराम बोस ने बैठक मे जल जीवन मिशन की विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए कहा कि जल जीवन मिशन मे जन सहभागीता आवश्यक है।इसके अन्तर्गत हर घर जल हर घर नल कनेक्शन उपलब्ध होगा।जिसमे 55 लीटर स्वच्छ व शुद्ध जल प्रत्येक नागरिक को प्रतिदिन देय होगा।

इसमे केन्द्र व राज्य सरकार की 45-45 प्रतिशत व 10 प्रतिशत जनता का अंशदान देना होगा। जो 10 प्रतिशत जन अंशदान जमा होगा।वो गांव स्तरीय जल एंव स्वच्छता समिति के खाते मे जमा होगे। गांव स्तरीय जल एंव स्वच्छता समिति मे 15 सदस्य होगे।जिसमे अध्यक्ष गांव का सरपंच व सचिव ग्राम विकास अधिकारी होगा।इसके अलावा 25 प्रतिशत जन प्रतिनिधि, 25 प्रतिशत एससी/एसटी सदस्य व 50 प्रतिशत महिला सदस्य होगी।ग्राम पंचायत स्तर पर 5 महिलाऔ को पानी टेस्टिंग हेतू जल एंव स्वच्छता समिति द्वारा चयन किया जाना है।जिसको पानी टेस्टिंग का प्रशिक्षण दिया जायेगा।और पाईप रिपेयरिंग के लिये गांव स्तर पर प्लम्बर हेतू युवाऔ को चयन कर उनको भी प्रशिक्षण दिया जायेगा।जिसमे गांव स्तर पर युवाऔ को रोजगार भी मिलेगा।


इस मिशन को सफल बनाने के उद्देश्य से गांव स्तरीय ग्राम कार्य योजना निर्माण कार्य किया जा रहा है ।जिसके तहत् जल स्वच्छता समिति व जन समुदाय के साथ पीआरए बैठक गांव का नजरीय नक्शा तैयार करते हुए कार्य योजना का निर्माण करना है।जिसमे गांव का कोई भी परिवार वंचित नही रहे।और गांव के प्रत्येक परिवार के मुखिया के आधार नम्बर, जनसंख्या व पशुधन संख्या, शौचालय की जानकारी व परिवार वर्तमान मे किस स्त्रोत से पानी का उपयोग कर रहा है ।आदि जानकारी का संग्रह करना होगा।उक्त मिशन के नियोजन, क्रियान्वयन एंव रखरखाव के लिये स्थानीय जन सहभागी जरुरी है।बैठक मे सरपंच प्रतिनिधि शंकराराम ने कहा कि जल जीवन मिशन मे जन सहभागीता जरुरी है।हम सभी को मिलकर कार्य योजना, क्रियान्वयन व निगरानी मे जन सहभागीता जरुरी है।
यह रहे मौजूद