Marudhar Desk: देश में 3 जनवरी से 15 से 18 साल तक के बच्चों को कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी। हालांकि, देश में अभी 15 से 18 साल के बच्चों को ही कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी। उससे छोटी उम्र के बच्चों के वैक्सीनेशन पर सरकार ने फैसला नहीं लिया है। वैक्सीनेशन के लिए 1 जनवरी से रजिस्ट्रेशन कराया जा सकेगा। केंद्र की गाइडलाइंस के मुताबिक, अभी इस एज ग्रुप के बच्चों को केवल कोवैक्सिन ही लगाई जाएगी। कोविन प्लेटफॉर्म चीफ डॉ. आरएस शर्मा ने बताया कि इसके लिए कोविन ऐप पर रजिस्ट्रेशन कर सकेंगे। 10वीं का ID कार्ड भी रजिस्ट्रेशन के लिए आइडेंटिटी प्रूफ माना जाएगा। ऐसा इसलिए क्योंकि कुछ स्टूडेंट्स के पास आधार कार्ड या फिर कोई दूसरा पहचान पत्र नहीं होगा। इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय ने किशोरों के टीकाकरण के साथ-साथ हेल्थकेयर व फ्रंटलाइन वर्कर्स और गंभीर बीमारी से पीडि़त 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को सतर्कता डोज देने की गाइडलाइंस भी जारी कर दी हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइंस में 15 से 18 साल के किशोरों को सिर्फ कोवैक्सीन लगाए जाने की बात कही गई है और उन्हें उसकी वही डोज लगाई जाएगी जो वयस्कों को लगाई गई है। हालांकि, ड्रग कंट्रोलर जनरल आफ इंडिया (डीसीजीआइ) जायडस कैडिला के टीके जायकोव-डी को भी इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत दे चुका है, जिसका ट्रायल 12 साल से अधिक उम्र के बच्चों पर भी किया गया था। बता दें कि देश में कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट ने खतरनाक रफ्तार पकड़ ली है। एक दिन में सबसे ज्यादा 135 मामले दर्ज हुए हैं, जिससे कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 687 हो गई।