मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। ग्रामवासियों के प्रार्थना-पत्र पर कनवास एसडीएम राजेश डागा ने कार्यवाही करते हुये दरा हाईवे पर लगने वाली सब्जी आदि की दुकानों को मोरूकला हाट में स्थानान्तरित करने हेतु थानाधिकारी व ग्राम पंचायत को निर्देश दिये गये हैं।

डागा ने बताया कि दरा हाईवे पर वाहनों का आवागमन अत्यधिक संख्या में होता है, कुछ व्यक्तियों द्वारा हाईवे के किनारे पर सब्जी के ठेले इत्यादि लगाये जाते हैं। जिस कारण हाईवे में वाहनों का आवागमन बाधित होता व अप्रिय घटना घटित होने की समभावना बनी रहती है। भविष्य में अप्रिय घटनायें घटित न हो व आवागमन, आमजन को कोई समस्या न हो को मध्यनजर रखते हुये पुलिस प्रशासन व ग्राम पंचायत दोनों के आपसी सहयोग से दुकानों को हाट बाजार में स्थानान्तरित करने के निर्देश ग्राम पंचायत को दिये गये हैं।

वृद्व दम्पत्ति को भरण-पोषण का लाभ दिलाया

एसडीएम राजेश डागा ने बाची हेड़ा निवासी रामकल्याण पुत्र रामनारायण कौन के पुत्रों से भरण-पोषण की राशि दिलवाई है। राम कल्याण ने एसडीएम राजा डागा के सामने आवेदन किया था कि उसके पुत्र सुरेश व रतन उसकी 05 बीघा भूमि पर कब्जा कर खेती कर रहे हैं एवं मुझे मेरे भरण-पोषण व स्वास्थ्य के लिये कोई सहायता नहीं करता है। प्रार्थी वृद्व दम्पत्ति है एवं इस उम्र में खेती व मेहनत मजदूरी करना सम्भव नहीं है। प्रार्थी के प्रकरण को डागा द्वारा गम्भीरता पूर्वक लेते हुये भरण-पोषण अधिनियम 2007 के तहत दर्ज कर प्रार्थी के दोनों पुत्रों को दूरभाष से न्यायालय में उपस्थित होने बाबत पाबंद कर किया गया। दोनों को बुलाकर मुझे समझा इसकी गई जिस पर दोनों वृद्ध दंपत्ति को भरण-पोषण के लिए 5 बीघा जमीन का इस साल का मुआवजा ₹40000 वह अगले माह से हर माह ₹2000 देने पर सहमत हो गए। इसे बुजुर्ग दंपत्ति ने स्वीकार कर लिया इस प्रकार से समझौते से इस मामले का हल निकाला गया। इस प्रकार अब तक कनवास उपखण्ड अधिकारी राजेश डागा द्वारा भरण पोषण के 16 प्रकरणों का निस्तारण कर प्रार्थीयों को लाभान्वित किया जा चूका है।