मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। पीईईओ के अधीन आने वाले ग्राम पंचायत के सभी स्कूलों की मॉनिटरिंग किए जाने की तर्ज पर अब सरकार ने शहरी क्षेत्र के उच्च माध्यमिक स्कूलों को संकुल संदर्भ केंद्र के रूप में संचालित किया है। इन संस्था प्रधान को संकुल संदर्भ केंद्र प्रभारी घोषित किया गया है। अब ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यरत पदेन पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी यानी पीईईओ की भांति ही शहर में शहरी संकुल प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी होंगे। ग्राम पंचायतों के अधीन आने वाले स्कूलों की प्रभावी मॉनिटरिंग को लेकर राज्य सरकार की ओर से पंचायत मुख्यालय के उच्च माध्यमिक स्कूल के प्रधानाचार्य को पीईईओ बनाया गया था। इन पीईईओ के अधीन ही ग्राम पंचायत के अधीन आने वाले सभी स्कूलों की मॉनिटरिंग रहती थी। अब उसी की तर्ज पर शहरी क्षेत्र में स्थित उच्च माध्यमिक स्कूलों को सूकुल, संदर्भ केंद्र के रूप में संचालित किया जाएगा। इसका मुख्यालय संबंधित स्कूल ही होगा। पहले ग्रामीण क्षेत्रों के उच्च माध्यमिक विद्यालयों के पीईईओ को ही यह अधिकार था कि वो अपने अधीन ग्राम पंचायत में आने वाले सभी स्कूलों का निरीक्षण करेंगे। पूरी मॉनिटरिंग भी इनके हाथ थी। लेकिन शहरी क्षेत्रों में यह सुविधा नहीं थी। ऐसे में निदेशक प्रारंभिक एवं माध्यमिक शिक्षा बीकानेर सौरभ स्वामी ने आदेश जारी कर शहरी क्षेत्रों में संचालित आदर्श उच्च माध्यमिक स्कूलों के प्रधानाचार्यों को बड़ी जिम्मेदारी दी है। उनको नया यूसीईईओ पदनाम भी दिया है। इसमें उनके क्षेत्र में आने वाले स्कूलों के निरीक्षण का अधिकार भी शामिल है।