मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। शिल्पी फ़ाउंडेशन की तरफ़ से जीवनसाथी बना सारथी प्रोग्राम का आयोजन गोपालपुरा स्थित होटेल ग्रांड सफ़ारी में किया गया। इसकी थीम थी उन कपल का सम्मान जिनके जीवनसाथी ने शादी के बाद विषम परिस्थितियों में भी अपने साथी को आगे बढ़ाय। जिसकी बदौलत समाज में उनको एक ऊँचा मुक़ाम मिला। प्रोग्राम के मुख्य अतिथि परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास, विशिष्ट अतिथि मेयर जयपुर मुनेश गुर्जर, पवन गोयल व रिज़वान अजाजी, शालिनी, कुलदीप गुप्ता रहे।
शिल्पी फ़ाउंडेशन की अध्यक्ष शिल्पी अग्रवाल ने बताया की पिछले साल की तरह इस साल भी ये प्रोग्राम वेलेंनटाइन डे को ध्यान में रख कर एक नयी थीम के साथ आयोजित किया गया। यहाँ पर आकर जोडिय़ों ने बताया की शादी के बाद भी अगर आपका जीवन साथी साथ दे और आगे बढ़ाए तो कोई भी मंजि़ल मुश्किल नहीं है। लोगों ने अपनी पत्नियों को शादी के बाद उच्च शिक्षा दिलाने के साथ राजनीति से लेकर बिजनेस तक कई फील्ड में आगे बढ़ाया, आज वे सोसायटी में एक बड़ा उदाहरण बन कर खडी है। इस अवसर पर प्रदेश के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा की महिला जीवन साथी सिफऱ् घर के काम काज और बच्चे पालने के लिए नहीं बल्कि एक दूसरे को समाज में बदलाव करने के लिए भी प्रेरित करे तो बदलाव निश्चित है।
इन जोडिय़ों का हुआ सम्मान: विनीता शेखावत – नाथुसिंह, लक्ष्मी शर्मा -नरेश शर्मा, राजेश भारद्वाज -स्नेहलता भारद्वाज , मुनेश गुर्जर – सुशील गुर्जर, योगेश कानवा – शीलू कानवा।