गुजरातियों को व्यापार करने के लिए देश और दुनिया में जाना जाता है। उनके लिए कोई व्यवसाय छोटा या बड़ा नहीं होता है। वे अपनी मेहनत के दम पर बड़ा मुकाम हासिल करते हैं। ऐसा ही कुछ वडोदरा के चार दोस्तों ने किया है। इन्होंने एक चाय कैफे शुरू किया। चाय बेचने का व्यवसाय आमतौर पर छोटा माना जाता है, लेकिन इन युवाओं ने चाय बेचने के लिए अपने स्टार्टअप को इस तरह से डिजाइन किया है कि इससे पर्यावरण को नुकसान भी नहीं पहुंचे और लोगों को पसंद भी आए। इस स्टार्टअप से चारों दोस्त हर महीने 50 हजार रुपए का मुनाफा कमा रहे हैं। ​कैफे को बड़े ही खूबसूरत तरीके से सजाया गया है। यहां आने वाले ग्राहकों के लिए इनडोर गेम्स की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा कागज या कांच के कपों के बजाए बिस्किट कप में चाय देने की व्यवस्था है। यानी चाय पीने के बाद कप को खा भी सकते हैं, जिसे ग्राहक भी पसंद कर रहे हैं।