जयपुर|Mahima Jain:कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन ने अब सरकार की भी नींद उड़ा दी है राजस्थान में कोरोना के केस रोज बढ़ते जा रहे हैं। नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के मरीज भी सामने आ रहे हैं। ऐसे में तीसरी लहर आने का खतरा बढ़ गया है। सरकार भी मरीजों की संख्या को लेकर चिंता में है। कहीं फिर से दूसरी लहर की तरह बड़े संकट का सामना न करने पड़े। पॉजिटिव केसों के आंकड़े को देखते हुए मेडिकल हेल्थ डिपार्टमेंट ने सभी जिलों के कलेक्टर्स को अलर्ट जारी किया है। प्रिंसिपल सेक्रेटरी हेल्थ अखिल अरोड़ा की ओर से एक आदेश जारी करते हुए सभी कलेक्टर्स को जिलों के हॉस्पिटल में दवाइयों और ऑक्सीजन का पर्याप्त स्टॉक रखने और सेंसेटिव एरिया में टेस्टिंग और ट्रेसिंग बढ़ाने के लिए निर्देश दिए है।

untitled 1640672722

पिछले दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत संग हुई कोविड मैनेजमेंट कमेटी की बैठक में मौजूद विशेषज्ञों ने सलाह दी थी कि राजस्थान में जिस तेजी से केस आने लगे हैं। यह थर्ड वेव की कॉल बेल बजने के समान है। ऐसे में अगर अभी से सतर्क नहीं हुए तो आने वाले समय में केसों में तेजी से इजाफा देखने को मिल सकता है। इसे चेतावनी को देखते हुए मेडिकल हेल्थ डिपार्टमेंट ने यह आदेश जारी कर कलेक्टर्स को अलर्ट जारी किया है।

ये भी करने के निर्देश

जिन जिलों में ब्लॉक लेवल या एरिया वाइज ज्यादा कोरोना के केस आ रहे है वहां सैम्पलिंग बढ़ाकर कोरोना के नए रोगियों की पहचान कर उनको आइसोलेट किया जाए।

जिन लोगों के कोरोना के पहली डोज लग गई और दूसरी नहीं लगी है उनको दूसरी डोज लगाई जाए। वहीं जो लोग पहली डोज भी लगाने नहीं आए उनको वैक्सीनेशन के लिए जागरूक किया जाए।

वैक्सीनेशन को बढ़ावा देने और कोविड नियमों की पालना लोग कर सके इसके लिए लोगों में जागरूक पैदा करने के लिए स्वयं सेवी संगठनों, धर्म गुरुओं, व्यापारिक संगठनों की मदद ली जाए। उनके संग बैठक कर उनकी इस अभियान में भागीदार सुनिश्चित करवाई जाए।

15 से 18 साल के बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू करने और 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों, हेल्थ वर्कर्स को तीसरी डोज लगाने की केन्द्र सरकार ने घोषणा की है। इसको लेकर तैयारियां करने के निर्देश दिए है।