जयपुर मूक-बधिर पुजारी शंभू की मौत प्रकरण पर गतिरोध बरकरार है। इस बीच सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा की अगुवाई में मृतक पुजारी के शव के साथ जयपुर स्थित सिविल लाइन्स फाटक पर धरना जारी है। जयपुर में दिए जा रहे धरने का आज तीसरा दिन है जबकि पुजारी की मौत के बाद से जारी आंदोलन का आज आठवां दिन है। गौरतलब है कि पुजारी शम्भू की मौत के बाद दौसा के महवा में शुरू हुआ आंदोलन जयपुर शिफ्ट हो गया है। सांसद डॉ मीणा भाजपा नेताओं-कार्यकर्ताओं और विभिन्न ब्राह्मण संगठनों के साथ न्याय की मांग को लेकर बेमियादी पड़ाव डाले बैठे हुए हैं। राज्य सभा सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा की अगुवाई और वरिष्ठ भाजपा नेताओं की उपस्थिति में शव रखकर धरना मुख्यमंत्री आवास के चंद कदमों की दूरी पर ही चल रहा है। यही नहीं मुख्यमंत्री जयपुर में ही मौजूद हैं। लेकिन हैरानी की बात ये है कि अब तक मुख्यमंत्री से भाजपा प्रतिनिधिमंडल की सीधे मुलाक़ात अब तक संभव नहीं हो सकी है। भाजपा नेता अब तक सुनवाई नहीं होने की बात को लेकर गहरी नाराजगी जता रहे हैं। गतिरोध कब और कैसे ख़त्म होगा इसे लेकर अब भी संशय की स्थिति बनी हुई है। अब तक सरकार के स्तर पर भाजपा प्रतिनिधिमंडल के साथ गुरुवार को एकमात्र वार्ता ही हुई है जो बेनतीजा रही। इसके बाद कल शुक्रवार को दिन भर दूसरे दौर की वार्ता के आमंत्रण का इंतज़ार रहा, लेकिन सरकार की ओर से धरना स्थल पर कोई न्यौता नहीं पहुंचा। ऐसे में आज फिर उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार की ओर से भाजपा प्रतिनिधिमंडल के साथ या तो कोई वार्ता का आमंत्रण आये या फिर कोई जनप्रतिनिधि धरना स्थल पर पहुंचकर कोई आश्वासन देकर ‘पड़ाव’ को ख़त्म करवाए। गरमाई सियासत के बीच मृतक पुजारी शंभू शर्मा की अब तक अंत्येष्ठी नहीं हो सकी है। महज़ कुछ मांगों को लेकर सरकार और प्रदर्शनकारियों के बीच बने गतिरोध को सप्ताह भर से ऊपर हो गया है। ऐसे में जब तक सभी मांगे पूरी नहीं होंगी तक तक पुजारी के शव की अंत्येष्ठी भी नहीं होगी। पुजारी मौत प्रकरण पर जारी गतिरोध के बीच कल देर रात मृतक पुजारी का शव लकड़ी के ताबूत से डीप फ्रीज़र में शिफ्ट कर दिया गया। इससे पहले डीप फ्रीज़र में बिजली कनेक्शन को लेकर दिन भर माहौल गर्माया रहा। दरअसल, कल प्रदर्शनकारी डीप फ्रीजर लेकर धरना स्थल पहुंचे, लेकिन नज़दीक के खंभे से बिजली का कनेक्शन लेने की बात पर उनका पुलिस से तीखी बहस हो गई। इसी के साथ कल धरनास्थल पर रात भर रामधुनी का दौर चला। सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा और वरिष्ठ भाजपा नेताओं की मौजूदगी में रामधुनी और भक्ति गीत गाकर समय व्यतीत किया। अब इसके बाद आखिर कब सरकार से इनकी बातचीत होगी और कब तक पुजारी के शव की अंत्येष्ठी की जाएगी ये तो आने वाला समय ही बता पायेगा।