जयपुर|Mahima Jain:ओमिक्रॉन और कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चुनाव करवाना इस वक़्त सरकार की सबसे बड़ी चुनौती बानी हुई है ऐसे में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने निर्वाचन आयोग और सरकार से चुनाव टालने पर विचार करने को कहा था। इसके बाद चुनाव आयुक्त ने यूपी का दौरा कर फैसला लेने की बात कही।28 से 30 दिसंबर तक चुनाव आयोग की टीम यूपी का दौरा करेगी।

मंगलवार शाम 4 बजे राजनीतिक दलों के साथ चुनाव आयोग की मीटिंग है। शाम 6.15 बजे सभी डीएम-नोडल अफसर भी मीटिंग में शामिल होंगे। 29 दिसंबर को डीएम-एसपी, मंडलायुक्त और आईजी, पुलिस कमिश्नर के साथ चुनाव आयोग की मीटिंग होगी। 30 दिसंबर को मुख्य सचिव और DGP के साथ बैठक है। चुनाव आयोग स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ बैठक कर कोरोना की स्थिति पर मंथन करेगा।

1640667025

यूपी सरकार से भी कोरोना से बचाव की तैयारियों के बारे में जानकारी लेगी। इसके बाद चुनाव आयोग यूपी में चुनाव कराने या न कराने पर निर्णय लेगा। बता दें कि सोमवार को नई दिल्ली में चुनाव आयोग ने स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ बैठक की थी। इसमें कोरोना और चुनाव पर चर्चा हुई थी। हालांकि, सोमवार को जो बैठक हुई थी उसमें चुनाव आयोग चुनाव टालने के मूड में नहीं है। हालांकि, इस पर जनवरी के पहले हफ्ते में अंतिम फैसला आ सकता है।

यूपी में चुनाव से पहले बड़ा प्रशासनिक फेरबदल

यूपी में चुनाव से पहले बड़ा प्रशासनिक फेरबदल होने जा रहा है। जिसमें 12 से अधिक जिलों में आईपीएस अधिकारियों को इधर-उधर करने की कवायद शुरू हो गई है। इसके पीछे यूपी कैडर के करीब 36 आईपीएस अधिकारियों का प्रमोशन होने को बताया जा रहा है।

इसके साथ ही बड़े जिलों में डीआईजी/एसएसपी की तैनाती पर भी मंथन हो रहा है, क्योंकि एसएसपी डीआईजी पद पर प्रोन्नत हो रहे हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, इसके पीछे आईपीएस की विभागीय प्रोन्नति समिति (डीपीसी) की बैठक में इस पर मुहर लगने के साथ आगामी चुनाव भी हैं। अब बस आदेश आने बाकी है। इसको लेकर डीजीपी, गृहविभाग और मुख्यमंत्री के बीच काफी देर चर्चा भी हुई।