पुलिस थाना प्रतापनगर जयपुर पूर्व व जिला स्पेशल टीम की बड़ी कार्यवाही। चन्द्र गेस्ट हाउस के संचालक दीपक शर्मा पर फायरिंग कर 50 लाख की रंगदारी की वारदात का 72 घण्टे में किया खुलासा। कुल पाँच शातिर अभियुक्तों को किया गिरफ्तार| अभियुक्तों के कब्जे से तीन हथियार एक अवैध देशी पिस्टल एवं दो अवैध देशी कट्टा मय कुल 61 जिन्दा कारतूस वारदात में प्रयुक्त व चोरी की स्कूटी बरामद। साथ कुशलपाल उर्फ कौशल के ब्लाईण्ड मर्डर का हुआ खुलासा जयपुर शहर में करीबन एक दर्जन नकबजनी व लूट की हुई वारदातों का खुलासा।

screenshot web.whatsapp.com 2021.04.15 12 46 47

दिनांक 11.04.2021 की रात्रि में चन्द्र गेस्ट हाउस संचालक श्री दीपक शर्मा के मोबाईल पर अज्ञात व्यक्ति ने फोन किया कि आजकल ज्यादा पैसे कमा रहा है , कुछ हमे भी भिजवा दे। थोड़ी देर बाद मैनेजर से मालूम हुआ कि गेस्ट हाउस पर स्कूटी सवार दो लडके फायरिंग करके चले गये। कुछ समय बाद फिर फोन आया कि यह तो ट्रेलर है पिक्चर अभी बाकि है। पूरा मामला पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया श्रीमोहन पुलिस निरीक्षक थानाधिकारी पुलिस थाना प्रतापनगर जयपुर पूर्व एवं श्री मनोहर लाल पु.नि. प्रभारी जिला स्पेशल टीम जयपुर पूर्व के नेतृत्व में गठित टीम द्वारा दिनांक 11.04.2021 की रात्रि में चन्द्र गेस्ट हाउस संचालक श्री दीपक शर्मा के मोबाईल पर अज्ञात व्यक्ति ने फोन किया को आधार मानकर अलग – अलग स्थानों पर दबिश देकर संदिग्धों से पूछताछ की गयी। घटना स्थल के आस – पास लगे कैमरों के सीसीटीवी फुटेज खंगाले गये, उसमें आए फुटेज का उपयोग कर अलग – अलग टीमों को भेजकर मुखवीरतन्त्र को सक्रिय कर आसूचनाओं का संकलन किया गया एवं प्रधुम्न एचसी 2031 मोबाईल नम्बरों की सीडीआर का विश्लेषण कर, संदिग्धों को ट्रेस आउट किया। ट्रेस आउट होने के बाद उच्चाधिकारियों के निर्देशन में अलग – अलग जगह पर दबिश देकर गठित टीमों द्वारा अथक प्रसास कर आरोपियान को राउण्ड अप किया गया । दौराने पूछताछ एवं अनुसंधान में गिरफ्तारशुदा मुल्जिमान में से अभियुक्त सुशांत दंतात्रोय ने बताया कि मेरा बचपन का दोस्त कुशलपाल उर्फ कौशल निवासी डेहरा बोहरा कुम्हेर भरतपुर अपराध की दुनिया में काम करता था । इसलिए मैं उससे डरता था। घटना से कुछ दिन पहले मेरे पास उसका फोन आया कि मैं जयपुर में तेरे पास ही रहूंगा कोई बड़ा काम मिलकर करेंगे कुशलपाल मेरे पास जयपुर रहने आ गया। उसने बताया कि जयपुर में किसी बड़े आसामी से पैसे लूटना है। कुशलपाल मेरे से रोज पैसे डलवाता और परेशान करता था। मैं उससे बहुत ज्यादा परेशान हो चुका था। उसको रास्ते से हटाने के लिए मेरे दोस्त रूपेश व अजय उर्फ बन्टी के साथ मिलकर प्लान बनाया। 4-5 दिन पहले रामनगरिया में स्थित किराये के फ्लैट पर मेरे दोस्त रूपेश व अजय उर्फ बन्टी के साथ मिलकर कुशलपाल का मर्डर कर दिया। उसकी डैड बॉडी को मेरे दोस्त के साथ मेरी गाडी टाटा एलटोस में डालकर भरतपुर ले जाकर नाले में डाल दिया था। मर्डर करने के बाद हमने दिनांक 10.04.2021 को चन्द्र गेस्ट हाउस इण्डिया गेट टोंक रोड में निवास करने वाले सतीश से मिलकर गेस्ट हाउस संचालक दीपक शर्मा को धमकाकर 50 लाख रूपये रंगधारी की योजना बनायी, जिस पर दिनांक 11.04.2021 की रात्रि को सुशांत ने अपने साथी रूपेश व अजय उर्फ बन्टी को सतीश कुमार के बताये अनुसार चन्द्र गेस्ट हाउस पर भेजकर फायरिंग करवायी फिर फोन कर पैसे की मांग की। सुशांत व उसके साथियों द्वारा उक्त वारदात को कारित करने के अलावा करीबन एक दर्जन मोबाईल की स्नेचिंग, लूट व नकबजनी की वारदात को अजाम दिया है।

screenshot web.whatsapp.com 2021.04.15 12 46 21