तेलंगाना के नागरकुर्नूल जिले से करेंसी नोटों को गैस चूल्हे पर फूंक देने का मामला सामने आया। दरअसल, एक शख्स ने ये कारनामा पकड़े जाने के डर से घूस की रकम का सफाया करने के लिए किया. यहां एंटी करप्शन ब्यूरो को खबर मिली थी कि ये शख्स एक तहसीलदार की तरफ से घूस वसूल करने वाला एजेंट है। तहसीलदार के ‘निर्देश’ पर इस शख्स को पांच लाख रुपए की किसी से ‘घूस’ मिली थी। एंटी करप्शन ब्यूरो के पकड़े जाने के डर से शख्स ने मंगलवार को नागरकुर्नूल जिले में अपने घर में इन नोटों को जला डाला, शख्स की पहचान वेंकेटैया गौड के तौर पर हुई है.एंटी करप्शन ब्यूरो के मुताबिक पांच लाख रुपए की रकम में से दो-दो हजार रुपए के 46 नोट यानी 92,000 रुपए पूरी तरह जल कर खाक हो गए। बाकी नोट भी जो 500 और 2000 की करेंसी के थे, वो भी आंशिक तौर पर जल गए।

screenshot www.aajtak.in 2021.04.07 11 20 50

जो तहसीलदार आरोपों के घेरे में है उसका नाम सैदुलु है और वो नागरकुर्नूल जिले के वेलडांडा का रहने वाला है। एंटी करप्शन ब्यूरो के अधिकारी जब वेंकेटैया गौड़ के घर पहुंचे तो उसने बहुत नाटक किया, पहले तो इसने अपने घर का दरवाजा ही नहीं खोला, फिर पकड़े जाने के डर से रसोई में जाकर नोटों को गैस चूल्हे के हवाले कर दिया. एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम के लोग किसी तरह घर के अंदर पहुंचे.तलाशी लिए जाने पर रसोई से जले हुए नोट मिले। इन नोटों को जब्त करने के साथ वेंकेटैया गौड़ को हिरासत में ले लिया गया। इस मामले में आगे जांच की जा रही है, एंटी करप्शन ब्यूरो का पड़ा था छापा, तेलंगाना के नागरकुर्नूल जिले की घटना।